हिंदी भाषा की लिपि क्या है? | Hindi Bhasha Ki Lipi Kya Hai

हिंदी हमारे देश की राजकीय भाषा है, हमारे देश के कई राज्यों में इस भाषा का इस्तेमाल लिखने और बोलने के लिए किया जाता है, इसके साथ ही स्कूल कॉलेज सरकारी दफ्तर प्राइवेट दफ्तरों में भी इस भाषा का इस्तेमाल किया जाता है।

हिंदी भाषा की लिपि क्या है? | Hindi Bhasha Ki Lipi Kya Hai
हिंदी भाषा की लिपि क्या है? | Hindi Bhasha Ki Lipi Kya Hai

लेकिन किसी भी भाषा को अच्छे से समझने के लिए जरूरी है कि हमें उस भाषा की लिपि क्या है के बारे में जानकारी हो इसलिए आज के इस पोस्ट में हम आपको यहां पर हिंदी भाषा की लिपि क्या है? | Hindi Bhasha ki lipi kya hai के बारे में विस्तार से जानकारी देने जा रहे हैं यदि आपको भी हिंदी भाषा की लिपि क्या है के बारे में जानना है तो इसे अंत तक अवश्य पढ़ें।

हिंदी भाषा की लिपि क्या है

हमारे देश भारत और दुनिया में सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषा हिंदी है जिसे हमें स्कूल से लेकर कॉलेजों में हिंदी एक विषय के तौर पर शामिल होता है और बचपन से ही हमें घर पर स्कूल पर और फिर कॉलेज में भी इस भाषा को और इसके व्याकरण को पढ़ाया लिखाया जाता है।

हिंदी भाषा की लिपि देवनागरी है और भारत में अन्य कई भाषा है जिसे लिखने के लिए देवनागरी लिपि का इस्तेमाल किया जाता है, देवनागरी एक व्यापक और वैज्ञानिक लिपि कहलाती है, प्राचीन काल में देवनागरी लिपि को ब्राह्मी लिपि कहा जाता है था क्योंकि यह इसी से उत्पन्न हुई है, देवनागरी लिपि में हिंदी संस्कृत पाली मराठी सिंधी भोजपुरी कश्मीरी नेपाली गढ़वाली आधी भाषाएं लिखी जाती है।

Also read: अंग्रेजी (English) भाषा की लिपि क्या है?

देवनागरी लिपि लिखने में सरल सुंदर और सुपाठ्य होती है इसे दाई से बाई की ओर लिखा जाता है और साथ ही हर शब्द के ऊपर की तरफ क्षैतिज रेखा खींची जाती है जो की शिरोरेखा के नाम से भी जानी जाती है और यही देवनागरी लिपि की पहचान होती है। इस लिपि में कुल 52 अक्षर होते हैं, जिसमें कि 14 स्वर और 38 व्यंजन होते हैं।

देवनागरी लिपि के गुण

  • देवनागरी लिपि के ध्वनि का संकेतात्मक चिन्ह होता है और हर एक संकेतात्मक चिन्ह का अपना ध्वनि होता है।
  • देवनागरी लिपि का उच्चारण स्पष्ट होता है जहां कोई भी संदेह नहीं दिखता।
  • इस लिपि को पढ़ने या लिखने और बोलने पर एकरूपता देखने को मिलती है।
  • किस लिपि के अंतर्गत आने वाला हर एक बार अपने आप में पूरा और संपन्न होता है यहां किसी भी वर्णों की संख्या ज्यादा होती है ना कम होती है।
  • देवनागरी लिपि के स्वर दो भाग में बटे हुए हैं, दीर्घ स्वर और हस्व स्वर।

निष्कर्ष

आज के अपने इस पोस्ट में हमने आपको हिंदी भाषा की लिपि क्या है? | Hindi Bhasha ki lipi kya hai के बारे में विस्तार से जानकारी दी यदि आपका इससे संबंधित कोई प्रश्न हो तो हमें कमेंट बॉक्स में बताएं उम्मीद करते हैं आपको यह पोस्ट पसंद आएगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *